पेरिस: 800 साल पुरानी इमारत में लगी आग पर काबू, लपटें देखकर सन्न रह गए लोग

दमकल विभाग के करीब 400 कर्मियों ने काफी मशक्कत की और वे काफी नुकसान के बावजूद आगे के टावर बचाने में कामयाब रहे. आग की लपटों के कारण शिखर एक तरफ झुक गया और जलती हुई छत पर गिर गया. लोग यह भयावह तस्वीर देखकर हैरान रह गए.

फ्रांस की राजधानी पेरिस में 850 साल पुरानी धरोहर व ऐतिहासिक गिरजाघर नोट्रे डेम में लगी भीषण आग पर काबू पा लिया गया. इसके अलावा कैथ्रेडल की मुख्य संरचना और इसके दो टावरों को बचा लिया गया है. फायर ब्रिगेड के एक प्रवक्ता ने बताया है कि आग पूरी तरह से नियंत्रण में है. यह आंशिक रूप से बुझ गई है, पूरी तरह से बुझाना अभी बाकी है.

फायर चीफ जीन-क्लाउड गैलेट के अनुसार, करीब 500 दमकलकर्मियों ने बेल टावरों में से एक को ध्वस्त होने से बचाने के लिए मशक्कत की. उन्होंने कहा कि जलते हुए कैथ्रेडल से कई अमूल्य कलाकृतियों को भी बचाया गया.

यह आग सोमवार शाम करीब 6.30 बजे लगी थी, जिसके बाद जल्द ही कैथ्रेडल के शानदार गोथिक शिखर को इसने चपेट में ले लिया, जो पूरी तरह से जल गया. आग ऐसे समय में लगी जब गिरजाघर में ईस्टर की तैयारियां की जा रही थीं. आग इतनी भयावह थी कि इसकी लपटे आसमान तक उठ रही थी, जिसे वहां मौजूद पर्यटक देख सन्न रह गए.

दमकल विभाग के करीब 400 कर्मियों ने काफी मशक्कत की और वे काफी नुकसान के बावजूद आगे के टावर बचाने में कामयाब रहे. आग की लपटों के कारण शिखर एक तरफ झुक गया और जलती हुई छत पर गिर गया. लोगों ने यह भयावह दृश्य देखा.

सीएनएन के मुताबिक, फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने कैथ्रेडल के आगे के हिस्से और टावरों को बचाने के लिए दमकलकर्मियों की प्रशंसा करते हुए कहा, “सबसे बुरा होने से बचा लिया गया.”

फिर भी उन्होंने कैथ्रेडल को पहुंचे नुकसान पर अफसोस जताया. उन्होंने मरम्मत के लिए धन जुटाने के लिए इंटरनेशनल फंड रेजिंग कैम्पेन की घोषणा करते हुए देश को एक साथ नोट्रे डेम के पुनर्निर्माण के लिए प्रतिबद्ध होने के लिए कहा. इसके अलावा ऑनलाइन डोनेशन के लिए एक साइट लॉन्च की गई है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *